सुवर्ण की माँग के रुझान दूसरी तिमाही 2016

Published 31st August 2016

Categories: Gold mining and sustainable development, Supply and demand, Jewellery, Investment, Technology, Reserve asset management

Download (pdf, 1.63 MB)

तिमाही 2 2016 में जारी विकास (+15%) के परिणामस्वरूप H1 में सुवर्ण की कुल माँग 2,335t रही – जो कि ज्ञात प्रथम छमाही में दूसरे सर्वोच्च क्रम पर है। तेज़ी से बढ़ती हुई कीमतों के वातावरण में पहले छः महीनों में बड़ा ETF अंतर्वाह (+579t) आभूषणों की फीकी माँग से प्रतिसंतुलित हो गया था। वास्तव में, सोने की कीमतों ने 35 वर्षों से अधिक समय के लिए सब से मज़बूत H1 कार्य निदर्शन (+25%) दर्ज किया।

1,063.9t की रिकॉर्ड रूप H1 निवेश माँग 2009 के पिछली H1 ऊँचाई से 16% अधिक थी। लगातार दो तिमाहियों (तिमाही 1 और तिमाही 2) तक सुवर्ण की माँग में निवेश संबंधी उद्देश्य सबसे बड़ा संघटक रहा है - ऐसा पहली बार हुआ है।

तिमाही2 में, सुवर्ण की कुल आपूर्ति पिछले वर्ष की तुलना में 10% बढ़ कर 1,144.6t हुई जो कि तिमाही2 2015 में 1,041.7t थी। प्रथम छमाही की आपूर्ति पिछले साल की तुलना में केवल 1% अधिक है, जो कि 8 सालों में H1 विकास की सब से कम दर है। पुनर्चक्रण और हेजिंग इस विकास में प्रमुख योगदानकर्ता रहे हैं, और वे सुवर्ण की उच्चतर कीमतों से समर्थित रहे हैं।