X

क्या खरीदें

गोल्ड ईटीएफ से गोल्ड मोनेटिसेशन प्लान, यहां वो सब कुछ है जिसे आपको जानने की जरुरत है।

गोल्ड मोनेटाइज़ेशन स्कीम क्या है?
यह एक प्रकार का गोल्ड सेविंग्स अकाउन्ट है जो आपके द्वारा डिपॉज़िट किये जाने वाले गोल्ड पर ब्याज प्राप्त करता है। आप अपने गोल्ड को किसी भी तरीके से डिपॉजिट कर सकते हैं जैसे ज्वेलरी, क्वाइन या बार्स। यह गोल्ड फिर अपने वजन के आधार पर गोल्ड के मूल्य में बढ़त और उसके अनुसार इन्ट्रेस्ट प्राप्त करता है।

यह कैसे काम करता है?
  • बेसिक चेक्स:
    आपके गोल्ड की प्योरिटी को चेक करना महत्वपूर्ण है और यह अच्छी बात है कि यह अब आप हॉलमार्क सेन्टर्स पर कर सकते हैं। आप अपने गोल्ड को किसी भी रूप में हॉलमार्क सेन्टर पर ले जा सकते हैं और वे आपके गोल्ड की आपके सामने ही जांच करेंगे और आपको गोल्ड कन्टेन्ट और प्योरिटी का सर्टिफिकेट देंगे।
  • गोल्ड सेविंग्स अकाउन्ट:
    इस सर्टिफिकेट को आप बैंक में जमा कर के अपना गोल्ड सेविंग्स अकाउन्ट खोल सकते हैं। बैंक में अकाउन्ट खोलने के दौरान ’नो योर कस्टमर’ या के वाय सी की फॉर्मेलिटीज़ की जाती है। गोल्ड को डिपॉज़िट करने पर बैंक द्वारा आपको वार्षिक इन्ट्रेस्ट दिया जाता है। गोल्ड डिपॉज़िट करते समय ही आपको कैश/गोल्ड रिडम्पशन के ऑप्शंस और अपने हिसाब से उसकी अवधि का चुनाव करना पड़ता है।
  • अपनी गोल्ड वैल्यू पर इन्ट्रेस्ट प्राप्त कीजिये:
    आपकी अवधि पूरी होने पर बैंक द्वारा आपको आपके गोल्ड के वजन के अनुसार 2% इन्ट्रेस्ट दिया जाएगा। उदाहरण के लिये यदि आपने 100 ग्राम गोल्ड जमा किया है, तो वर्ष के अन्त में आप 102 ग्राम गोल्ड प्राप्त कर सकते हैं।
  • अवधि और कम से कम मूल्य:
    गोल्ड के लिये मिनिमम लॉक इन पीरियड एक वर्ष का होता है और आप 30 ग्राम जितना कम से कम गोल्ड को जमा कर अपना गोल्ड सेविंग अकाउन्ट खोल सकते हैं।
क्या यह मेरे लिये है?

गोल्ड मोनेटाइज़ेशन स्कीम में अनेक लाभ हैं:

  • गोल्ड मोनेटाइज़ेशन स्कीम में आपको अपनी उस गोल्ड ज्वेलरी पर इन्ट्रेस्ट मिलता है जो लॉकर में पडी रहती है। टूटी हुई ज्वेलरी या फिर इस प्रकार की ज्वेलरी जिसे आप पहनना नही चाहते, वह आपके लिये इन्ट्रेस्ट प्राप्त करने का काम कर सकती है।
  • कॉईन्स और बार्स जो आपके लॉकर में पड़े रहते हैं, वह आपके लिये इन्ट्रेस्ट प्राप्त करने का काम करते हैं।
  • आपके गोल्ड को बैंक में सुरक्षा के साथ रखा जाता है।
  • इसका रिडम्पशन फिजिकल गोल्ड या नकद रुपयो में किया जाता है जिससे आप आगे और अधिक कमाई कर सकते हैं।
  • इस प्रकार की अर्निंग पर कैपिटल गेन टैक्स, वैल्थ टैक्स या इन्कम टैक्स नही होता। जो गोल्ड आपने जमा किया है, उसके मूल्य की बढ़त पर और साथ ही इससे आपने जो ब्याज कमाया है, उस पर किसी प्रकार का कैपिटल गेन टैक्स नही होता।
इसे रिडीम कैसे करें?
अवधि पूरी हो जाने पर आप अपने गोल्ड की फिज़िकल पजेशन मांग सकते हैं या फिर उस दिन के मूल्य के अनुसार उतने गोल्ड का मूल्य नकद प्राप्त कर सकते हैं। पर दोनों ही परिस्थिति के लिए आपको स्कीम शुरू करते समय ही अपना चुनाव विशेष रूप से बताना होगा।

मैं अपने गोल्ड को इसमें क्यों जमा करुं?
लॉकर में रहने वाला गोल्ड अपनी वैल्यू जरुर बढाता है लेकिन आपको उस पर नियमित इन्ट्रेस्ट या डिविडेन्ड नही मिलता है। इसके विपरीत आपको बैंक लॉकर के चार्जेस आदि उसकी सुरक्षा के रुप में देने होते हैं। मोनेटाइज़ेशन स्कीम के तेहत आपको अपने गोल्ड पर नियमित इन्ट्रेस्ट तो मिलता ही है और आपको उसकी सुरक्षा पर पैसा भी खर्च नही करना पडता।

आपको यह भी पसंद आ सकता हैं